परिचय

आज का युग सूचना क्रांति का युग है। सूचना क्रांति के विभिन्न घटक –टेलीफोन, मोबाइल, टीवी आदि कृषि तकनीकी जानकारी कृषकों तक पहुंचाने में उपयोगी साबित हो रहे है। मोबाइल एस. एम. एस. के माध्यम से कृषक घर/ खेत पर नवीनतम कृषि सूचना प्राप्त कर रहें हैं तथा वैज्ञानिकों से संपर्क भी आसान हो गया है।

उद्देश्य:-

  • कृषि ज्ञान प्रबंधन (AKMP) विकसित करना।
  • स्थान एवं आवश्यकता आधारित कृषि तकनीकी कृषकों तक पहुंचाना।
  • कृषि क्षेत्र में सूचना एवं संचार तकनीकी के योगदान का मूल्यांकन करना।

कार्य योजना:-

  • यह परियोजना राज्य सरकार के कृषि विभाग द्वारा राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अंतर्गत 2015-16 में स्वीकृत की गई है।
  • इसके अंतर्गत गंगानगर व हनुमानगढ़ जिलों की 3-3 तहसीलों के 1-1 गाँव चयनित कर कृषकों को सूचना क्रांति उपकरणों इंटरनेट, फ़ेसबुक, व्हाट्सअप, स्काईप, विडियो कांफ्रेस आदि का उपयोग करते हुये कृषि तकनीकी व अन्य सूचनाएँ कृषकों को उपलब्ध कारवाई जाएगी।
  • चयनित गावों के कृषकों को फ़ेसबुक, व्हाट्सअप समूह, वेब पेज व वी.सी. के माध्यम से कृषि अनुसंधान की नवीनतम कृषि तकनीकी की जानकारी उपलब्ध कारवाई जाएगी।
  • परियोजना में विडियो कांफ्रेस सुविधा से केंद्र के वैज्ञानिकों व कृषकों को सीधा जोड़ने का प्रस्ताव है ताकि उनकी कृषि संबंधी समस्याओं का समाधान हो सके।
  • परियोजना के अंतर्गत चयनित गाँव में एक कृषक सेवा केंद्र (के. एस. के.) खोलना प्रस्तावित है जहां पर समय-समय पर कृषि वैज्ञानिकों व कृषकों की बैठक आयोजित करके कृषि तकनीकी जानकारी दी जावेगी तथा संबन्धित कृषक सेवा केंद्र (के. एस.   के.) पर कृषि साहित्य भी उपलब्ध करवाया जाएगा।
जैविक खेती
जैविक खेती
kharif
खरीफ फसलें
12
रबी फसलें

जल प्रबंधन
जल प्रबंधन
योजनाएँ
कृषि विभाग की योजनाएँ
बागवानी
बागवानी